कज़िन भाभी को लंड पकड़ाया भाभी को थोड़ा गरम गरम बातों से उत्तेजित किया जाए और …

 
loading...

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी को अपनी एक बहुत अच्छी और बिल्कुल सच्ची चुदाई की घटना बताने जा रहा हूँ, जिसमें मैंने अपनी भाभी के साथ उनकी चुदाई के बहुत मज़े लिए और उनको अपनी पहली चुदाई से ही संतुष्ट किया और यह घटना अभी कुछ समय पहले मेरे साथ घटित हुई है। दोस्तों में एक बहुत खुले विचारों वाले परिवार से हूँ, हमारे कुछ रिश्तेदार गर्मियों की छुट्टीयों में हमारे साथ रहकर मज़े करने के लिए हमारे पास आ जाते थे और उन दिनों मेरे कज़िन का परिवार हमारे घर पर आया हुआ था। कज़िन ब्रदर उनकी बीवी और उनके वो प्यारे से दो बच्चे, मेरी कज़िन भाभी मानो स्वर्ग की अप्सरा लगती थी। उनकी उम्र 34 साल उनका फिगर 34-28-36 क्या मस्त दिखती थी, उनके दो बच्चे थे, एक का नाम गीत(उम्र 5 साल) और शिव (उम्र 3 साल)।

दोस्तों मेरी भाभी दो बच्चे होने के बाद और भी सुंदर लगने लगी थी, उनकी छाती पहले से ज्यादा उभरी हुई और गांड पहले से ज्यादा बाहर आने लगी थी। उनका धीरे धीरे पूरा शरीर भरने लगा था और शादी के कुछ सालों के बाद वो बातों में भी बहुत खुल गयी थी। अब में उनके बूब्स और चूतड़ देखकर वो मुझे किसी रसमलाई और बरफी जैसी लगने लगी थी और फिर मुझे जब भी मौका मिलता तो में उसकी रसीले बूब्स और गोलमटोल चूतड़ों को जी भरकर देखता था और मौका मिलने पर में किसी बहाने उनको छू लेता था और वो जब भी पास से गुजरती तो उनके बदन की खुशबू मुझे बहुत आकर्षित करती थी और में इस सोच में उनको मन ही मन सोचने लगा था।

एक दिन मेरे बड़े भाई को उनके काम से बाहर जाना पड़ा और उस वक़्त भाभी मुझे बहुत उदास लगी थी, क्योंकि मेरा भाई पूरे दो महीने के लिए बाहर जा रहा था, लेकिन उनके जाने के बाद में भाभी से बहुत घुलमिल सा गया था। में अब उनके बच्चो के साथ मस्ती करता तो कई बार में भाभी से अकेले में बात करता और चुपके से उनको छुआ भी करता था। भाभी भी अब मुझसे बहुत खुलकर बातें किया करती थी। फिर उस वक़्त मैंने भी मन ही मन सोच लिया था कि कैसे भी करके भाभी को किसी भी तरह से पटा लिया जाए और उनके रस भरे जिस्म को उत्तेजित किया जाए, जिससे वो खुद भी मुझसे चुदने के लिए बैचेन हो जाए। फिर वो एक दिन आ ही गया जब में भाभी से बात कर रहा था तो मैंने सही मौका देखकर उस दिन उनकी सुंदरता की बहुत तारीफ की और उनसे उनके कॉलेज के दिनों के बारे में पूछा, उनके दोस्त बॉयफ्रेंड सभी के बारे में उनसे जाना। फिर वो भी बहुत खुश होकर मेरे हर एक सवाल का जवाब दे रही थी और मैंने उन्हें गौर से देखा कि बातें करते करते उनके चेहरे का रंग बिल्कुल बदल सा गया है। तभी उन्होंने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो में उनसे बोला कि आप जैसी स्वर्ग की अप्सरा अब तक मुझे कभी नहीं मिली, मतलब कि मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं है तो मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो हंसने लगी और मेरे लंड की तरफ देखकर मुझसे बोली कि इस उम्र में गर्लफ्रेंड नहीं है तो तुम उसे कैसे सम्भालते हो?

दोस्तों में उनके मुहं से यह शब्द सुनकर थोड़ा दंग रह गया और फिर मैंने मन ही मन सोचा कि भाभी को थोड़ा गरम गरम बातों से उत्तेजित किया जाए और फिर मैंने उनसे बोला कि में ऐसे ही काम चला लेता हूँ, लेकिन आपको देखकर मेरे विचार अब कुछ बदल से गये है और मैंने उनको कुछ सेक्सी जोक्स सुनाए, जिस पर वो हंसी और मुझे छूने लगी। अब उनसे बातों ही बातों में मैंने पूछ लिया कि भाभी कभी आपने शादी से पहले कभी कुछ किया था? तो भाभी थोड़ा मुस्कुराते हुए बोली कि यह काम मेरा थोड़ा गुप्त है और में तुम्हें यह सब क्यों बताऊँ? तो मैंने कहा कि में आपका कोई पराया थोड़ी ही हूँ, साली जैसे आधी घरवाली होती है ठीक वैसे ही में भी आपका आधा घरवाला हूँ। फिर मेरे मुहं से यह सुनकर वो थोड़ा सा शरमाई और वो मेरी बात को टालने लगी, लेकिन में अब उनका ऐसे कैसे पीछा छोड़ने वाला था। उसके बाद वो उठकर किचन में चली गयी और कॉफी बनाने लगी। में भी एकदम सही मौका देखकर उनके पीछे पीछे किचन में चला गया और अब में उनके पीछे ही पड़ गया और मैंने महसूस किया कि भाभी शरम से बिल्कुल लाल हो गई थी और अब मैंने उनसे बिना डरे पूछा कि आपने पहली बार सेक्स का अनुभव कब लिया था और वो आपको कैसा लगा था? तो वो शरम से बोली कि जब तुम्हारा वक़्त आएगा तब तुम्हें अपने आप पता चल जाएगा। उनका रुखा सुखा सा जवाब सुनकर मेरा तो मूड ही खराब हो गया, लेकिन भाभी अब शायद कुछ कहना चाहती थी और यह बात तो पक्की थी। फिर थोड़ी देर बाद बच्चे भी आ गए।

फिर उसी दिन दोपहर को में भाभी के बारे में सोच रहा था, उनकी मस्त मस्त गांड और बूब्स मेरे लंड को खड़ा कर रहे थे और में अपने लंड को धीरे धीरे सहला रहा था। तभी भाभी मेरे रूम में आ गई और उन्होंने मेरे खड़े लंड को पेंट के ऊपर से ही टेंट बना हुआ देख लिया। में अभी भी अपने लंड को सहला रहा था तो उन्होंने मुझे आवाज़ लगाई और में अचानक से घबराकर उठ गया। अब भाभी ने मुझसे पूछा कि क्यों तुम ऐसा क्या सोच रहे हो? मुझे लगता है कि तुम्हें अब किसी गर्लफ्रेंड की बहुत ज़रूरत है? तो में डरकर घबराकर कुछ नहीं बोला। भाभी मेरे पास आकर बैठ गई और फिर वो मुझसे बोली कि मुझे ऐसा लगता है कि तुम किसी के बारे में सोच रहे हो? अब मैंने थोड़ा उदास होकर उनसे कहा कि जी ऐसा कुछ नहीं है, में तो बस आपके बारे में ही सोच रहा था। दोस्तों भाभी को देखकर मेरा लंड अब और भी जोश में आ गया था, इसलिए मैंने थोड़ी हिम्मत करके भाभी का एक हाथ पकड़ा और उनको बेड पर बैठा दिया और तुरंत उनकी गोद में अपना सर रख दिया और फिर मैंने उनसे बोला कि भाभी आपको देखकर मुझे कुछ कुछ होता है तो भाभी थोड़ा मुस्कुराते हुए मुझसे पूछने लगी कि तुम्हें ऐसा क्या होता है? अब मैंने झट से उनका एक हाथ उठाकर अपने लंड पर रख दिया। फिर मेरे लंड का अपने हाथ पर स्पर्श होते ही वो चकित हो गयी और अब उनकी सांसे धीरे धीरे फूलने लगी, लेकिन उन्होंने अपना हाथ मेरे लंड से नहीं हटाया और वो अब मुझसे पूछने लगी कि तुमको मुझमे ऐसा क्या अच्छा लगता है?

उनकी यह बात सुनकर मुझे लगा कि यही एकदम सही मौका है, में उनसे बोला कि आपकी आखें, आपकी बातें, आपके बूब्स और आपकी गांड का तो में बहुत दीवाना हो गया हूँ, जी करता है कि में उनको आईस्क्रीम की तरह चूस लूँ और खा जाऊँ। तभी मेरे मुहं से यह बात सुनकर उन्होंने मेरे लंड को मसल दिया। फिर वो मुझसे बोली कि मेरे साथ तुम्हें और क्या क्या करना है? तो में उनकी तरफ से हरी झंडी देखकर तुरंत उठकर खड़ा हो गया और अब मैंने उनको अपनी बाहों में भर लिया और उनके बूब्स को अपनी छाती से दबाया और साड़ी के ऊपर से उनकी गांड पर हाथ फेरा। भाभी ने भी मेरा साथ दिया और उन्होंने अपना एक हाथ मेरी पेंट में डालकर वो मेरे लंड को मसलने लगी और वो मुझसे बोली कि में भी बहुत प्यासी हूँ और तुम्हारा लंड अब मुझे बहुत गरम कर चुका है, आज तुम मेरे और में बस तुम्हारी बनकर ही रहेंगे, लेकिन तुम यह बात किसी को बताना नहीं। दोस्तों उनके मुहं से यह बात सुनकर में खुश हो गया और मैंने उनके होंठो पर अपने होंठ रख दिए, तभी वो तुरंत पीछे हटकर मुझसे कहने लगी कि अभी नहीं अभी में सिर्फ़ तुम्हारे लंड को देखना चाहती हूँ और उसे छूकर महसूस करना चाहती हूँ। फिर मैंने तुरंत अपने बाथरूम का दरवाजा खोल दिया और उन्हें अंदर खींच लिया, वो अब मुझसे लिपटी हुई थी और उनकी सांसे बहुत तेज चलने लगी थी, उनकी इस अदा पर मुझे बहुत प्यार आया और में उनके होंठो को चूसने लगा। फिर में उनसे कहने लगा कि प्रीति तुम एक कामुक परी हो और मैंने उनके बूब्स दबाए और वो अहहहहाह उह्ह्हह्ह्ह्ह आईईईइ हाँ थोड़ा और ज़ोर से। फिर में अपना एक हाथ साड़ी के ऊपर से उनकी चूत को लगाने लगा और चूत को सहलाने लगा और मेरी इस हरकत से वो और भी पागल हो गयी।

तभी बाहर से किसी की आवाज़ आई और उनकी सांसे अचानक से एक ही जगह पर रुक सी गई, थोड़ी देर बाद वो मुझसे बोली कि अभी तुम बस ऊपर से ही करो, रात को हम पूरा मज़ा लेंगे। फिर मैंने कहा कि ठीक है और अब मैंने उनको पकड़कर दीवार से चिपका दिया और मैंने प्रीति के दोनों पैर फैलाए और उनकी साड़ी, पेटीकोट को थोड़ा ऊपर उठाया और तभी मैंने थोड़ा झुककर देखा तो भाभी ने लाल कलर की पेंटी पहनी हुई थी, जो उनकी चूत के आसपास वाले हिस्से से थोड़ी गीली हुई थी और उससे मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी। फिर में अब पेंटी के ऊपर से उनकी चूत को चाटने लगा, जिसकी वजह से वो भी और गरम होकर अपनी चूत को मेरे मुहं पर दबाने लगी और कहने लगी कि हाँ ऐसे ही उफ्फ्फ वाह मज़ा आ गया और अंदर तेज तेज आहहाहा उफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्ह वो अब मेरे सर को पकड़कर अंदर दबा रही थी और धीरे धीरे मोन कर रही थी और तभी मुझे अहसास हुआ कि भाभी अब झड़ने वाली है और वो आवाज़ करते हुए झड़ गई। उनकी गीली पेंटी को में और चाटने लगा, वो कुछ शांत हो गई।

उन्होंने मुझे अपने ऊपर से हटाया और वो अपनी साड़ी को ठीक करके मुझसे बोली कि तुम अपनी बाकी की मुराद आज रात को पूरी कर लेना, लेकिन मेरा अभी तक कुछ हुआ ही नहीं था, लेकिन फिर भी में उनकी बात को मान गया और अब हम दोनों बाथरूम से बाहर आ गए। फिर भाभी घर का कुछ काम निपटाने के लिए मेरे कमरे से बाहर चली गयी और में रात होने का बहुत बेसब्री से इंतज़ार करने लगा और कुछ घंटो के बाद रात को डाइनिंग पर बैठे हम सब लोग खाना खाने लगे। तब मैंने गौर किया कि मेरी भाभी मेरे शरीर से अपना शरीर अचानक से कुछ बहाने से छू देती थी और एक बार तो उन्होंने उनकी चूत वाला हिस्सा जानबूझ कर मेरे हाथ से रगड़ दिया और वो मुस्कुराने लगी। मैंने उनके बच्चो के साथ खाना खाया और बाद में कुछ देर उनके साथ टी.वी. देखने लगा और भाभी भी कुछ देर बाद खाना खाकर आई और मेरे पास बैठकर टी.वी. देखने लगी, थोड़ी देर में बच्चो को नींद आने लगी। फिर भाभी उनको अपने बेडरूम में सुलाने ले गई और अब में भी अपने बेडरूम में चला गया और भाभी का इंतजार करने लगा। दोनों बच्चे जब गहरी नींद में सो गए तो उसके बाद भाभी ने मेरे रूम का दरवाजा खोला और वो अंदर आई, उन्होंने उस समय गुलाबी कलर की मेक्सी पहनी हुई थी और वो बहुत गजब लग रही थी। अंदर आते ही उसने दरवाजा अंदर से बंद किया और फिर मेरे पास आकर बैठ गई, लेकिन में जानबूझ कर नाराज़ होने का नाटक करने लगा।

अब वो मुझे मनाने लगी, भाभी ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और वो मुझसे बोली कि ओ मेरे सय्या इतना क्यों नाराज हो और उन्होंने मेरे होंठो पर अपने होंठ रख दिए और में भी उनका साथ देने लगा। मैंने उनको खड़ा किया और गौर से देखने लगा। फिर वो मुझसे बोली कि मुझे यूँ क्या देख रहे हो क्या आज मुझे पूरा ही खा जाओगे? तो मैंने उनसे बोला कि में इस दिन का कब से इंतजार कर रहा था? और फिर में उनसे लिपट गया और उनको चूमने लगा, कभी गर्दन पर, कभी गालों पर, उनके बालों पर हाथ फेरने लगा और वो बिल्कुल मदहोश होकर मोन करने लगी, हाँ उह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह। अब में साड़ी के ऊपर से ही उनके बूब्स को दबाने लगा, उनके होंठो को चूमता, होंठो से होंठ रगड़ता हुआ उनकी पीठ को सहलाता रहा और अब हमारी सांसे धीरे धीरे तेज होने लगी और में मानो उस पर टूट पड़ा और चुम्मो की बौछार करने लगा। वो भी मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी और पीठ से होकर में अब उसकी गांड पर आता गांड के गोलो को सहलाता और भाभी को पूरी तरह जोश में भर दिया।

ऐसे ही मैंने उनको दीवार से चिपकाया और एक पैर से उनकी चूत को रगड़ने लगा और एक हाथ से बूब्स को दबाता तो दूसरे हाथ से उनकी गांड को दबाता रहा और उनको चूमते चूमते में नीचे आ गया। फिर मैंने बूब्स को चूमा, पेट को काटा, जांघ पर अपनी जीभ चलाने लगा और अब में उनकी मेक्सी को धीरे से ऊपर उठाकर कमर तक ले आया। मैंने उसके नीचे उनकी वो सेक्सी लाल कलर की बिकनी देखी जो चूत के रस से गीली थी और बहुत महक रही थी। मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी गांड को दबाई और चूत को बिकनी के ऊपर से रगड़ने लगा और वो मेरा सर दबाकर मोन करने लगी। फिर मैंने उनकी बिकनी को उतार दिया और अब में उस प्यासी चूत को चूसने लगा और उनकी चूत के दाने को अपनी जीभ से छूकर सहलाने लगा, वो और भी अब ज़ोर ज़ोर से मोन करने लगी और मेरे सर को अपने दोनों हाथों से अपनी चूत पर दबाने लगी। अब में उन्हें उठाकर बिस्तर पर ले आया और मैंने उनकी मेक्सी को उतार दिया। फिर उन्होंने भी मेरे सारे कपड़े तुरंत उतार दिए और अब हम नंगे बिस्तर पर एक दूसरे की बाहों में थे और वो मेरे लंड को सहला रही थी।

फिर मैंने उनके दोनों पैरों को पूरा फैलाया और चूत को चाटने लगा, वो भी अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी, हाँ ऐसे ही चाटो उफ्फ्फ्फफ्फ आह्ह्ह्हह्ह मेरी चूत को मुझे। मुझे और भी जोश चढ़ गया और में उनकी चूत को खाने लगा और वो चिल्लाने लगी, आह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ हाँ खा जाओ मेरी चूत को तुम कितने अच्छे हो, हाँ थोड़ा अंदर तक चाटो मेरी प्यासी चूत को आईईईई तुम्हारे भैया मेरे साथ कभी ऐसा नहीं करते। अब में अपने एक हाथ से उनकी गांड को दबाने लगा और गांड के कुल्हो को दूर करके गांड के छेद को सहलाने लगा। कूल्हों को दबाते ही उसके शरीर में मानो बिजली टूट पड़ी। फिर में अपनी जीभ को नीचे ले आया और उसकी जांघो को चूमने लगा, कूल्हों को चूमने लगा, गांड के छेद को सूंघने लगा, वाह क्या खुशबू थी? मैंने अब उसके कूल्हों को दूर करके छेद पर अपनी जीभ को रखकर चाटने लगा और वो मानो सातवें आसमान पर पहुंच गई और मुझसे कहने लगी हाँ और ज़ोर से चाटो मेरी चूत और गांड को, में अपनी ज़बान से गांड के छेद को खोलने लगा और नहीं खुली तो अपनी एक ऊँगली को गीला करके गांड के छेद में डालने की कोशिश करने लगा तो वो उस दर्द से कसमसाई, लेकिन मैंने महसूस किया कि उसकी गांड बहुत टाईट थी, मेरी ऊँगली अपना पूरा ज़ोर लगाने पर अंदर जा नहीं रही थी और अब उसे दर्द होने लगा। में गांड को छोड़कर अब उसकी चूत को चाटने लगा।

फिर हम दोनों 69 पोज़िशन में आ गए। मैंने उसकी चूत को बहुत देर तक चाटा और वो मेरा लंड को अपने मुहं में अंदर तक लेने लगी। में जैसे ही उसकी चूत रगड़ता तो वो मेरे लंड को काट खाती और वो अब बहुत कामुक होने लगी थी और कुछ देर बाद वो अपना पूरा ज़ोर लगाकर अपनी चूत का पानी छोड़ने लगी और मैंने उसका पूरा रस पी लिया ।।



loading...

और कहानिया

loading...
6 Comments
  1. September 27, 2017 |
  2. September 27, 2017 |
    • September 27, 2017 |
  3. Anonymous
    September 27, 2017 |
  4. Aaryan
    September 28, 2017 |
  5. September 28, 2017 |

Online porn video at mobile phone


दीदी को चुत में मेहदी लगाते देखासर्दी की रात पापा के साथ सेक्स स्टोरीहिनदी सेकसा अनतरवासनाv00ly w0dhindichudaikahaniya.comkamukta dot comगोअन वाली चाची की गांड मारीboyfrnd ne nange girlfrnd ka kiya rapeladdki n sex kiya janbuchkarMastram ki sex stories sasuralparivar ki hotel m chudaiआटीँ के झवाझवी चाटरंडि चुत कि कहानी उसी कि जुबानीsethji ki maa ki seva karte karte chudai kahaniyaमाँ को दारू पी कर सेक्स किया सेक्स कहानी हिंदीsex papa bate kahaneBp xxx story in hindi read2018hendesexvedeioandhere me adla bdli me sex ka mjaxxx sexi estori bhabhi ki malish karke choda .comपति ने पत्नी की चूत मे अपना लड डालकर सूहाग रात मे केसे बनाईचुत गधे नेचोदीhindi xxxma or bate ki storyantervasanasexkahaniचोदय के खांय हिंदी फॅमिलीमामि भानजा लुची कहानियाhindisexkahaniapani 3 bahano ko chndaXnxxx scool muslemladkeyoni ki seel tooti hai xa nahi. xnxx.com in hindi image Didi merrid kamukta sexvideo sexy dus saal ki ladki Ko Chod Ke boor se Khoon nikala Pehli Baarkamina sasu ne bahu ko choda kahani.combahn ki chudai xxx storyxnxaantiलडकी को नसा पिलाकर बनाया गया xxx mmsMeri chudi apne Bhai se aur sabhi Behno ko v chudwayabehan ke samne biwi ki suhagrat with photo hindi storybedroom mein nehat bhabhi ki sath sex .comwww.badi bhean n bhai ka ilaj Kiya saxy stroie.comAk ladaka ko khet may bulaya or chodayahinde antavasna kahanyawww.xxx.khani.damad.hindixxx stori hindiladki hastmethun karte bhai papa chacha ne dekhha to chodliya xnxx comwww musalim buaa ki chudai ki sexy khahani3 polambar k moty land s codai ki hindi kahani mXxx BF A कहानी फोटो के साथxxx chudai kahani rishto m bahane seantaravasanahindididi aisi sexy Hindi kahani jo tan badan me aag laga desexy कहानियाँchudwane ke baad dard chla nhi ja rha thaचुतchutphotokahanigalti sa didi ke mami sexy xxx hot nahi ho rahi hai kay karu khani hindi mapublic sex hindi kahanixxx kahaniदोस्तों की रखैल बनी मेरी बहन की सेक्स कहानीchachi ki honeymoon xxx kahanichut ke chodi video Val xxxvfwww.momandsonxxxstory.comsex Karta Hua video Doongi Baba ke sath jabardastiपार्क शेकश बीडीयोमम्मी और चाची की चुदाई देखि मैं बहारJyoti ki chut ki kahanisimla se dehli ke bich seal tuda baithi amtarvasna.combhu sss mosi sasur ki bur land ki gandi dehati hindi sex story freeriste me chudai hindianterwasnaxxx,vedo,dyci,chut,my,jahtमैं अपनी बुर चुड़ विwww.xxx.bihari.bhabi.chodi.khani.video.comhttp://googleweblight.com/?lite_url=http://kamuktastories.com/ antarvasna hindihindisexkahanikamwalu ku shadu mai chodai khaniANEMAL SEA SEXY CHODI KHANEmahawari mai choda kahani