दोस्तो, मेरा नाम रिजवान है, सभी मेरे मोटे लम्बे और गधे जैसे लंड की वजह से मुझे ‘लॅंडधारी’ रिजू के नाम से बुलाते हैं। मेरा लंड 9 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। जब मेरा लंड खड़ा (टाइट) होता है तो ऐसा लगता है जैसे किसी घोड़े का लंड या किसी गधे का लंड हो, मेरा लंड उसकी चूत का पानी निकाल कर ही बाहर आता है, और वो लड़की या औरत मेरे इस लंबे, मोटे लंड की दीवानी हो जाती है ।

आज तक मैंने बहुत सी शादीशुदा और कुवांरियों की सील तोड़ी है। मैंने अपनी मम्मी को भी पटाकर चुदाई की है क्योंकि मेरे पापा काम के सिलसिले में ज़्यादातर बहार ही रहते हैं, में बचपन से ही देखता आया हूँ, की मम्मी की चूत कितनी प्यासी है, पापा के कहने पर ही मम्मी हमेशां अपनी चूत की झांटों को साफ़ कर के रखती है, मम्मी की चूत के ऊपर सिर्फ दिल के आकार (शेप) में बाल हैं, अब तो मम्मी मेरे पठानी लैंड की दीवानी है .. जब पापा घर पर नहीं होते तो हम दिन और रात मैं कई कई बार चुदाई कर लेते हैं .. बस या ट्रेन या रिक्शा मैं भी मम्मी मेरे लैंड को (सबसे छुपाकर) हाथ में रखती है और मेरे लैंड को आगे पीछे करती है. मम्मी को मेरे लंड का लम्बाई और मोटाई बहुत बसंद है ..मम्मी को मेरा लैंड पूरा मूंह मैं ले कर चूसना और चूत में डालकर रखना बहुत पसंद है, मेरा लंड घोड़े/गधे के लंड जैसा है – आगे से लंड का सुपाड़ा फूला हुआ है, और लंड की लम्बाई पीछे की तरफ से मोटी होती जाती है, जब किसी की चूत या गांड में पूरा जड़ तक लंड घुस जाता है तो दोनों को ही चुदाई का आनंद आता है.

 

मेरे घर के पास प्रियंका नाम की लड़की रहती थी, वो भी 22 वर्ष की भरी-पूरी जवान लड़की थी। एक दूसरी लड़की मेरी गर्ल-फ़्रेण्ड थी.. उसका नाम मरीना था। प्रियंका को मेरे और मरीना के सेक्स सम्बन्ध के बारे में पता था, मैं जब मरीना को कहीं ले जाता था तो यह बात प्रियंका को पता होती थी क्योंकि मैं प्रियंका के घर से ही मरीना को फोन किया करता था। मरीना और प्रियंका अच्छी सहेलियों की तरह बातें करती थीं।मरीना मेरे और उसके बीच हुए सेक्स के बारे में प्रियंका को बता दिया करती थी।

मरीना को इस बात का आभास नहीं था कि उसके द्वारा सेक्स की बातें बता देने से प्रियंका के मन में भी चूत चुदाने की इच्छा जागृत हो गई थी। नादान सन्ध्या मेरे घर आकर मुझे पूछती- भैया.. कल आपने मरीना के साथ क्या क्या किया? मैं उससे बोलता- तुझे उस से क्या लेना देना है..और इस तरह मैं उसे टाल देता था। वो मेरी देख कर शरमा कर चली जाती थी।

जब मैंने मरीना से प्रियंका के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो मेरे और उसकी चुदाई की सारी बातें प्रियंका को बता देती थी। मैं अब सब कुछ समझ गया था। एक दिन जब मैं अपने घर में काम कर रहा था.. तो प्रियंका मेरे पास आई और मुझसे बातें करने लगी।sex kahaniya,antarwasna,antravasna,hindi sexy story,chudai ki kahaniya,hindi sex kahaniya,chut ki chudai,सेक्सी कहानी,hindi sex,chudai kahani,hindi sex stories,sex khani,sexi kahani,सेक्सी कहानियाँ,anterwasna,xxx story,chut chudai,sexkahani,sexy stories,desi kahani,sexy khani,sex kahani hindi,सेक्स कहानी,antervasana,sexy khaniya,sexi kahaniya,sex ki kahani,sex khaniya

मैंने उससे कहा- तू अभी जा.. थोड़ी देर से आना.. मुझे कुछ काम करना है।

मगर वो नहीं मानी। मैं उससे थोड़ी देर तक कहता रहा.. फिर वो चली गई।

तभी मेरी मम्मी को बाज़ार जाना था तो मम्मी ने मुझसे कहा- मैं थोड़ी देर में वापिस आ जाऊँगी.. तुझे चाय वगैरह पीनी हो तो प्रियंका को बोल देना.. वो बना देगी।

मैंने कहा- ठीक है।

मम्मी के जाने के ठीक बाद प्रियंका फिर से मेरे यहाँ आ गई और मुझे परेशान करने लगी। मैं आज अपना काम नहीं कर पा रहा था। इतने में प्रियंका मेरे हाथ से पेन छीन कर मेरे कमरे में भागने लगी। मैं उसे पकड़ने के लिए खड़ा हुआ और झपट कर मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया। जब मैंने उसको पकड़ा तो मेरे हाथ उसकी चूचियों पर आ गए थे, उसकी चूचियाँ बहुत ही नर्म और छोटी-छोटी थी।

मेरे हाथों से उसके कोमल स्तन दब से गए थे। अब स्थिति कुछ इस तरह बन गई थी कि मेरा लण्ड उसकी गाण्ड पर टिका हुआ था। उसके चूतड़ों की गोलाइयों ने मेरे लण्ड को छूकर उसमें आग सी लगा थी।

उसको थोड़ी देर तक यूँ ही पकड़ने के बाद उसने मुझे मेरा पेन वापस दे दिया। मैं अब पेन नहीं लेना चाहता था.. मुझे मजा जो आ रहा था.. पर मुझे छोड़ना ही पड़ा।

मैंने उससे कहा- मेरे लिए चाय बना दे।

उसने कहा- ठीक है भैया..

वो चाय बनाने के लिए रसोई में चली गई। मैं थोड़ी देर तक सोचता रहा कि अब क्या करूँ मगर अब मुझसे चुदाई किए बिना नहीं रहा जा रहा था। मैं धीरे से उसके पास रसोई में गया और उसके पीछे जाकर खड़ा होकर चिपक सा गया और कहने लगा- क्या यार.. अभी तक चाय नहीं बनी?

मेरे स्पर्श से वो लहरा सी गई। फिर मैं उसके पीछे से हट गया.. क्योंकि वो कुछ समझ गई थी। वो मुझसे कहने लगी- भैया दूर रहो.. करण्ट सा लगता है..

मैं भी समझ गया गया था कि वो क्या कह रही है। उसने मुझे चाय दी और कहा- भैया मैं घर जा रही हूँ।

मैंने कहा- कहा रुक ना.. चाय तो पीने दे उसके बाद चली जाना।

उसने कहा- ठीक है भैया.. पी लो।

मैं उसे अपने कमरे में ले गया। वो मेरे कमरे में एक कोने में चुपचाप खड़ी हो गई। मैंने सोचा कि अब क्या किया जाए… मैंने उससे जानबूझ कर मरीना की बात को छेड़ा।

मैंने उससे पूछा- तेरी मरीना से कोई बात हुई है क्या?

उसने कहा- नहीं..

फिर मैंने उसको कहा- तू मरीना को फोन करके यहाँ बुला ले।

उसने कहा- क्यों.. यहाँ क्यूँ बुला रहे हो भैया?

मैंने कहा- मम्मी नहीं है ना इसीलिए।

उसने कहा- ठीक है.. मैं उसे फोन करके आती हूँ।

मैंने कहा- रुक..

मेरे यह कहने से वो रुक गई और कहने लगी- बोलिए.. क्या कह रहे हो भैया?

मैंने उससे पूछा- मरीना तुझे क्या-क्या बताती है।

तो उसने होंठ दबाते हुए कहा- कुछ नहीं।

मैं समझ गया कि यह अब मुझसे बोलने में डर रही है।

मैंने कहा- सध्या.. जरा मेरे पास तो आ..

वो बोली- क्यूँ?

मैंने कहा- आ तो सही।

वो धीरे से मेरे पास आई। मैंने उसको बिस्तर पर बैठाया और कहा- प्रियंका तुझे सब पता है ना.. मेरे और मरीना के सेक्स के बारे में..

वह कहने लगी- भैया मुझे कुछ नहीं पता है.. कसम से..

वो उस समय डर गई थी। फिर मैंने कहा- कोई बात नहीं.. तुझे हमारी बातें जानना हो तो मुझसे पूछ लिया कर.. मगर मरीना से मत पूछा कर।

तो उसने तुरन्त पूछा- क्यूँ भैया?

मैंने कहा- कहीं मरीना ने तेरी मम्मी से कह दिया तो?

उसने धीरे से ‘हाँ’ में सर हिलाया। उसके बाद मैंने उससे पूछा- तुझे जानना है क्या..? अभी बता..!

उसने धीरे से अपने मुँह को ‘नहीं’ में हिलाया। फिर भी मैंने उसको बात बताना शुरु कर दिया। थोड़ी देर तक तो वो ‘ना.. ना..’ कर रही थी.. उसके बाद वो गौर से सुनने लगी। मैंने उसको रस लेते हुए एक बात तो पूरी बता दी।

उसके बाद उसने मुझसे कहा- भैया कोई और दिन की बात सुनाओ ना..

जब मैंने उससे कहा- मैं अब सुनाऊँगा नहीं बल्कि करके बताऊँगा।

‘नहीं ना.. हटो.. नहीं..’

‘मैं करके बताना चाहता हूँ। उसमें अधिक मजा आता है…’ वो एकदम से खड़ी हो गई।

मैंने उसको आगे से पकड़ लिया और उसके होंठों की पप्पी लेने लगा। वह मुझसे छूटने की पूरी-पूरी कोशिश कर रही थी। मगर मैंने उसको छोड़ा नहीं। थोड़ी देर के बद मैंने उसको कहा- बिस्तर पर लेट जा..

मगर वो बोली- मैं चिल्ला दूँगी.. भैया मुझसे छोड़ो..
मैंने कहा- ठीक है तू चिल्ला..
मैंने उसको अपने हाथों में उठाया और बिस्तर पर लेटा दिया और उसके ऊपर लेट गया।
अब मैंने उसके दोनों हाथों को पकड़ लिया और उसको चूमने लगा।

थोड़ी देर तक तो वो ‘ना.. ना..’ करती रही, फिर मैंने अपने एक ही हाथ से उसके दोनों हाथ पकड़ लिए और एक हाथ से उसके सलवार का नाड़ा खोल दिया। वो लगातार ‘नहीं.. नहीं..’ कर रही थी, फिर मैंने उसके सलवार में हाथ डाल कर उसकी चूत को सहलाने लगा।

थोड़ी देर तक यह करने के बाद वो भी गरम होने लगी, मैंने फिर उसके हाथ को छोड़ दिया और उसके बाद मैं समझ गया कि अब यह भी गरम हो गई है फिर मैंने उसकी कुरती उतार दी और उसके साथ उसकी शमीज भी उतार दी। मैं उसके चीकू जैसे स्तनों को सहलाने लगा और उसकी चूत को भी सहलाने लगा। मुझे पता था कि यह पहली बार चुदाई करवा रही है।

उसके मुँह से ‘आह्हह्ह… ह्हह्ह’ की आवाज आ रही थीं।

मैंने उससे कहा- मैं मरीना के साथ भी यही करता हूँ।
तो उसने अपनी बन्द आँखें खोलीं और नशीली आवाज में कहा- उसके बाद क्या करते हो?

मैं समझ गया था कि यह अब पूरी गर्म हो गई है, मैंने उसके पूरे कपड़े उतार दिए, अब वह मेरे सामने पूरी नंगी थी। मैंने भी फिर अपने कपड़े उतारे और तेल की शीशी ले कर आया। मैंने अपने 7 इन्च के लण्ड पर तेल लगाया जो कि खड़ा हो गया था। उसके बाद उसकी चूत की फंको को खोल कर उस पर भी तेल लगाया। मैंने उसकी चूत में अपनी उंगली डाल कर तेल लगाते हुए उससे कहा- क्या मैं अपना लण्ड डालूँ?

तो उसने कामुकता से कहा- हाँ.. डाल दो ना भैया..कुछ कुछ हो रहा है …

मैंने जैसे ही अपना थोड़ा सा लण्ड उसकी चूत में दबाया तो वह जोर से चिल्ला दी।

‘ऊऊओ.. म्मम्मम्मम्मी.. आआ.. आहहअ.. अईईए.. नहीं.. ईईई.. भैयाआआ.. बाहर.. निकालो..’

मैंने अपना लण्ड निकाला और कहा- थोड़ा तो दर्द होगा.. तू इतनी ज़ोर से मत चिल्लाना।

उसने रुआंसे होते हुए कहा- ठीक है.. मगर भैया थोड़ा धीरे-धीरे डालना।

मैंने फिर से अपना लण्ड उसकी चूत में डाला.. तो वह फिर से चिल्लाई।

अबकी बार मैंने अपना मुँह उसके मुँह पर रख दिया और उसके मुँह को चूसने लगा। थोड़ी देर के बाद उसका चिल्लाना कम हुआ।

फिर मैंने अपनी कमर को थोड़ा पीछे करके ज़ोर से एक झटका दिया और अपना पूरा लण्ड उसकी चूत में पेल दिया। उसके बाद वह तो समझो मर ही गई थी।

वो इतनी ज़ोर से चिल्लाई- मम्मई.. नहीं ईईई.. अई.. भैयाआ.. आआअहह.. निकालो ऊऊऊ..

फिर मैंने उसका मुँह से अपना मुँह लगा। लिया और वो ज़ोर-ज़ोर से हिलने लगी। उसकी चूत में से खून आने लग गया और वह पागल सी हो गई।

मैंने उसके चिल्लाने पर भी उसे चोदना नहीं छोड़ा और चोदता ही चला गया। थोड़ी देर के बाद मेरे लण्ड से वीर्य निकलने को हुआ.. जो मैंने बाहर निकाल दिया।

मैं झड़ने के बाद उसके ऊपर ही थोड़ी देर लेटा रहा। मेरे लण्ड को उसकी चूत में से बाहर निकालने बाद ही उसने शान्ति की सांस ली और कहा- भैया अब मैं आपसे कभी नहीं चुदवाऊँगी।

मैं उससे कहा- तू अपना खून साफ़ कर ले और कपड़े पहन ले।

मैंने भी अपने कपड़े पहन लिए और उसके बाद अपना काम करने लगा गया।

थोड़ी देर के बाद वह कमरे में से बाहर आई और कहा- भैया मैं जा रही हूँ।

मैंने कहा- ठीक है.. अब कब आएगी।

तो उसने शरमाते कहा- जब समय मिलेगा।

वो चली गई.. पर आज भी जब भी मौका मिलता है.. मैं उसको चोदता रहता हूँ। अब वो भी चुदाई का पूरा मजा लेती है। उसकी छातियाँ चीकू से आम हो गयी हैं … शरीर भी भर गया है और चूतड़ भी मस्त हो गए हैं …

मरीना से ज्यादा अब मैं उसकी चुदाई करता हूँ. …प्रियंका अब मेरी दीवानी हो चुकी है ….

Write A Comment


Online porn video at mobile phone


xxx randi kuli cudaiChudai kahaniya Monika or uski dost Ko choda ek sathmai tere sauteli hu kya kar raha h sexy storyxxx hindi nokar ki sath pron sexxxx storyMaine choti bachi ki gand mari sexy kahanixxx storiUncle k sath mammy ka niya jiwan part 10 sex storyइडियन आटि विलेज सेक्स काहानी1 chute 3land ki sex kahnihindi sex khanixxxxxxxx.kahane..marathe.maX STORI HINDIsex xxx mosi xxx sex hede bf bhan xxx sex boy xxx hede sex bf experiencechudaikhaniMa ki chut ki khujli sex antarvasbakamukta.comXXX.HINDEE.SEX.STORY.COMhindi xxx khule me parkg.f ke chudai satore xxxrat ma lhit band karka cotha saxy khaniसलवार खोलकर घर की पेशाब पिलाने की सेक्सी कहानियां30 साल की उम्र पार करने के बाद भी दीदी ने अपनी चूत में लण्ड नहीं लिया थाmastaram sasur sexstoryक्या मुठ मारते देख भाभी राजी हो सकती हैma ke kahane par bhahan chiding sex storyxxxsexyhistorihindichudai hindi kahani maa beta kagiga sali ki chudai karata vidiogangbang chudai family kahanixxx hot sexy storiyaमा को नाक मे बाली पहनकर पेगनेट किया सेकसी कहानीयाwww मराठी चावट कथा.comwww.burstorinaitme mom kesath jabarjadasti sex kiyadidi ne mujhe dulhan bana jija se chudwaya antarvasna.comxxx deshi bhabhi didi kahanibhiya chodona muze audio comभाईका लंड मेरी चुद्दकड चुतsexsi khani ptni samjkar bhan ko chodaantrvasnasexystorykamukta barishXXXX.HINDEE.SEX.STORY.COMSexy मतलब चोडा चोडी Photoचुड़क्कड़ मॉम डैड की चुदाई देखिbhabi ki sexi bra pinty pr muth marta huaa pkda gya khani chudai kiwww.didi ko jabardasti chudai karke seel toda kahani.comxxx hot sexy storiyaJija Nashe Mein Andheri Mein behan Mujhse Jodi sexy Hindi kahaniyamom ko jaberdasti toylet me coda story hindisaasu ma ki chut hila hila ke choda bf hindi hdxxxsexkahnido saheliya apne papa se chudi sex storymosi xxx kahani hindiantarwasna storyhindi sex story 2018 Badi didiko chote bhaise chodne ko bolaजंगल कि sexy कहाणीयाँmaa.ki.gand.marigujratisix stor.hsसगे बहन भाई मे चुदाई कयते नय काहनीयाहिंदी सेकसी कहानीयॉ Dec2017kamukta saxxi story.comexxxbabi divar historiसीता हिंदी सिष्य रंडीधडक =xxx im.xxx sexi khaniचुत का पानी शिल दार बुर चोदाइ काहनीxxx kahanimarathi sexyekahanisadi mai xxx vedeoxnx stroyxxx storyjabr jasti Bali chodai video xxx.comकामुकता डाट काम सेकसी बहन ने भाई चुदाईxxxsex kahani ki biwi ki gand mshadi suda bahan ko uske sasural mai choda antrvasna. comx vediobahan ke sath sex kiya gar maiantarvashna hindi storiIndian choot ki churri ke darshanbirthday kahani xxxguru mastram.comlipstik lgati bhabhi ki chudai hindi stori . walpeparबहन और भाई की गाँव वाली xnxxकाहानीसेकसी फटेchoot ki chusaiantarwasna hindi kahaniyaबाप बेटी की चुदाई कहानीSUHAGRAT STORE