आज जैसे ही मुझे पता चला की भैया बाहर 3 दिन के लिये बिज़नस के काम से जा रहे है तो में मन ही मन खुशी से झूम उठा और रात का इंतज़ार करने लगा. मेरी पायल आंटी बहुत ही सेक्सी ओरत है, उनका फिगर भी बहुत ही आकर्षक है, बड़े बड़े बूब्स, गोरा रंग, मदमस्त चीज़ है. अब चूँकि पायल आंटी से में पहले सेक्स कर चुका था. इसलिये हम आपस मे खुल गये थे. इस बार काफ़ी दिनो के बाद यह मौका आया था. शाम को भैया के जाने के बाद पायल आंटी किचन मे काम कर रही थी तो मेंने किचन मे जाकर पायल आंटी को पीछे से पकड़ लिया और बोला की पायल आंटी आज तो में दूध पीऊँगा, तो वो हंसते हुये बोली पी लेना अभी गर्म तो होने दो, मैने हंसते हुये कहा तो गर्म करो ना में तो पीना चाहता हूँ, तो वो बोली आज स्पेशल दूध केसर डालकर पिलाऊँगी. मैने कहा मुझे काली भैस का नही, तुम्हारा पीना है इससे स्पेशल और कहाँ होगा पायल आंटी हंस के बोली बदमाश हो गया है चल भाग, काम करने दे. पायल आंटी जल्दी करना और में बाहर आकर टी.वी सीरियल देखने लगा और फिर टीवी पर एक सेक्सी फिल्म आने लगी बहुत सेक्सी फिल्म थी. में उसे देखने लगा, सीरियल ख़त्म होने पर पायल आंटी अपने कमरे में जाते हुये बोली “तो दूध गर्म करके रखा है जाकर पी लेना, मैने कहा मुझे यह नही पीना, में सोने जा रही हूँ और ख्याल रखना ज़्यादा देर नही हो” पायल आंटी दूध लेकर पहले अपने कमरे में गयी. में समझ गया. और मैने जल्दी ही टी.वी बंद कर दी और पायल आंटी के रूम मे चला गया देखा तो पायल आंटी लेटी हुई थी में भी उनके बगल में जाकर लेट गया. में पायल आंटी के बूब्स पर हाथ फेरने लगा, आंटी ने ब्लाउज के बटन खोल रखे थे. मैने कहा पायल आंटी क्या हुआ और मैने ब्रा का हुक खोल दिया और बोला क्यो क़ैद कर रखा है इनको कम से कम रात को आज़ाद कर दो और मैने उनके बूब्स को दबा दिया उन्होने ब्लाउज उतार दिया अब पायल आंटी की चूचियां आज़ाद थी. क्या मद मस्त थी और पायल आंटी बोली दूध साइड में टेबल पर रखा है, पी लो ना और पायल आंटी उठकर दूध का ग्लास लाई, मैने उनके पेटीकोट का नाडा खोल दिया और वो झट से नीचे आ गिरा और वो नीचे कुछ भी नही पहने थी…फिर वो बोली यह दूध पी लो” मैने कहा जब सामने खुद इतनी सुंदर दूधवाली खड़ी हो तो यह काली भैंस का दूध कौन पियेगा और मैने उनकी चूचियो को ज़ोर से दबा दिया और उन्हे मुहँ मे ले लिया पायल आंटी ने कहा “पर इसमें दूध कहाँ है” यह कहते हुये मेरे मुहँ मे से अपनी चूचि छुड़ा कर उठी और दूध का ग्लास उठा कर मेरे मुहँ मे लगा दिया. मैने थोड़ा पिया और ग्लास लेकर बाकी पीने के लिये पायल आंटी के मुहँ में लगा दिया. पायल आंटी ने भी थोड़ा पिया और मुहँ से ग्लास हटाते हुये कहा, “मैने दूध पी लिया था” इस बीच दूध उछल कर पायल आंटी की चूचियों पर गिर गया. में उसे अपनी जीभ से चाटने लगा. अब तो पायल आंटी ग्लास लेकर अपनी चूचियों पर धीरे-धीरे दूध गिराती रही और में मज़ा ले-ले कर उसे चाटते गया. चूचियां चाटने से पायल आंटी के सारे बदन में सुरसुरी होने लगी, इस बीच थोड़ा दूध बह कर पायल आंटी की नाभि से होता हुआ चूत तक चला गया. मेरी जीभ दूध चाटते-चाटते नीचे आ रही थी और पायल आंटी के बदन में सनसनी फैल रही थी. पायल आंटी दूध गिराये जा रही थी दूध बूब्स से होता हुआ वही से नीचे आ गया था अब मेरे होठ पायल आंटी की चूत के ठीक उपर होकर दूध चाट रहे थे. में फिर जीभ को उपर की तरफ कर बूब्स के पास ले आया और उनके बूब्स दबा कर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा पायल आंटी भी गर्म हो रही थी और बोलने लगी “ओह राजा! इसी तरह चूसते और चाटते रहो. बहुत अच्छा लग रहा है. मैने कहा क्या मस्त दूध है ऐसा नशा और कहाँ है. मुझे तो यही पीना है रोज पायल आंटी बोली ये क्या कर रहे हो मैं मस्ती से पागल हो रही हूँ….. ओह राजा चलो और….. ज़ोर से चूसो….बहुत अच्छा लग रहा है मेरी पायल आंटी और में उनके बूब्स को चूसता रहा फिर पायल आंटी ने मेरे लंड को हाथों मे ले लिया तो में बोला तुम भी पी लो ना इसका दूध …बोली इसमे दूध कहाँ होता है. में बोला दूध नही तो मलाई तो होती है ना….और उस पर पायल आंटी ने दूध गिरा दिया और ग्लास मे जो मलाई थी मेरे लंड पर डाल दी और उसे अपनी जीभ से चाटने लगी और अपनी जीभ फेरने लगी. मैने उसके सिर को पकड़ कर कहा चूस ले ना अब इसका मलाई वाला दूध और लंड को पायल आंटी के मुहँ की तरफ ठेला और अब तो उसे चूसने लगी और मेरे लंड को अंदर बाहर कर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी उम्म्म्म….उम्म्म अहह…की आवाज़ आ रही थी मेरा लंड तन कर बड़ा हो गया था और चुदाई के लिये पूरा तैयार था पायल आंटी भी अब रुक नही पा रही थी. पायल आंटी की चूत भी उसे पाने के लिये बेकरार थी. मेरा लंड भी अब पायल आंटी की चूत से मिलने के लिये बेकरार था. पायल आंटी अब सीधे लेट गयी और उसने चुदाई का निमंत्रण दे दिया. में भी तुरंत ही पायल आंटी के उपर आ गया और एक झटके मे पायल आंटी की चूत में अपना पूरा लंड घुसा दिया. पायल आंटी भी नीचे से कमर उठा कर लंड और चूत दोनो को आपस मे मिलने मे सहयोग देने लगी. दोनो इस समय इस प्रकार मिल रहे थे मानो कई बरसो बाद मिले हो. मैने रफ्तार बडाते हुये पूछा, “क्या करूँ रानी पायल आंटी ?” पायल आंटी बोली अंदर तक तो कर दिया अब पूछता है क्या करूँ चल चुदक्कड़ कहीं का” उन्होने मेरे होठ चूम लिये और बोली किये जा जैसे तेरी इच्छा हो.  में अब और धक्के लगा रहा था और पायल आंटी की चूत नीचे से उनका जबाब दे रही थी. घमासान चुदाई चल रही थी. और पायल आंटी के मुहँ से सिसकारियां निकलने लगी…आह…उईईईईईईईईईईईई… .क्या कर रहा है रे……..ज़ोर से चोदो राजा चोदो… मेरी चूत भी कम नही है….. कस-कस कर धक्के मारो मेरे राजा, चोदो ज़ोर से इस साली चूत को, जो हर समय चुदाने के लिये बेचैन रहती है… चोदो अब तो में भी तूफान मैल की तरह चुदाई करने लगा. चूत से पूरा लंड निकलता और पूरी गहराई तक पेल रहा था. में तो स्वर्ग की हवाओ मे उडने लगा.. पायल आंटी क्या मजा आ रहा है मेरी रानी..खा..जमके.. “हाँ राजा ! और ज़ोर…से… बड़ा मजा आ रहा है……और जोर से……. ..ओह माआअ ओह मेरे राजा बहुत अच्छा लग रहा है…में भी अब उपर से कस कस कर धक्के पर धक्का लगाते हुये बोल रहा था.  रानी तुम्हारी चूत ने तो आज मेरे लंड को पागल बना दिया है वो इस सुंदर चूत का दीवाना हो गया है इसे चोद चोद कर जब तक तुम चाहोगी जन्नत की सैर करूँगा रानी बहुत मज़ा आ रहा है. फिर पायल आंटी भी बोली उईईईईईई….चोदो …चोदो….चोदो…और चोदो, राजा साथ-साथ झड़ना….ओह हाईईईईईईईईई आ जाओ…. चोद दो…. ओह….ओह अहह ईईसस्सस्स मेरे सनम…..अब नही रुक पाऊँगी ओह में … मर…गई.” इधर में कस कस कर धक्के लगाकर साथ-साथ झड़ गया. सचमुच इस चुदाई से में बहुत खुश था और पायल आंटी ने भी पूरी मस्ती मे चुदाई का भरपूर मज़ा लिया. अब हम दोनो झड़ चुके थे मैने पायल आंटी का जोरदार किस लिया और पायल आंटी की चूंचियों के बीच सिर रख कर उनके उपर थोरी देर पड़े रह कर अपनी सांसो को शान्त करने के बाद पायल आंटी के बगल में ही लेट के उनके पास मे लिपट कर सो गया, सुबह पायल आंटी ने उठाया और कहा उठना नही है क्या…… और मेरे लंड को दबा दिया….कहा जल्दी फ्रेश हो जाओ….मेंने ब्रश किया फिर पायल आंटी चाय लाई और हमने चाय पी.  फिर मैने देखा पायल आंटी और अपने चूत मटकाती हुई बाथरूम की तरफ चली गयी. में भी पायल आंटी के पीछे पीछे बाथरूम मे चला गया और अंदर जाकर गेट बन्द कर दिया. पायल आंटी ने अपने कपड़े उतार दिये, मैने भी सारे कपड़े उतार दिये और अब मैने शावर खोल दिया. हम दोनो के नंगे जिस्म पर पानी की फुवारे पड़ने लगी. बाथरूम में लगे बड़े शीशे में मैं देख रहा था, शावर के नीचे पायल आंटी के उत्तेजक बदन और बड़ी बड़ी चूचियो पर पानी पड़ रहा था, वो चूचियो से टपकता पानी जो पैरों के बीच पायल आंटी कि चूत से होता हुआ पेरों पर छोटी-छोटी धार बनाते हुये नीचे गिर रहा था. जो बहुत ही सेक्सी लग रहा था मेरी छाती से गिरता हुआ पानी लंड पर से धार बनाकर बहता पानी आज बहुत अच्छा लग रहा था. पायल आंटी ने मेरा लंड हाथ में ले लिया और सुपडे को खोलने और बंद करने लगी. लंड हाथ में आते ही कड़क हो कर खड़ा हो गया.   अब मैने पायल आंटी के बूब्स को और सारे शरीर को अपनी छाती से चिपका कर उनके होठों अपने होठों में ले लिया. पायल आंटी की कसी हुई बड़ी बड़ी चूचियाँ मेरे सीने में रगड खाने लगी फिर पायल आंटी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत से सटा लिया और थोड़ा पैर फेला कर चूत पर रगड़ने लगी. फिर मैने पायल आंटी के सारे बदन पर साबुन लगाया उनके बूब्स को और चूत के उपर भी खूब मसला फिर हम दोनो एक दूसरे के बदन पर फिसलने लगे पायल आंटी अपने बूब्स को पूरे बदन पर दबाकर फिसला रही थी, बड़ा मज़ा आ रहा था फिर मैने शावर को तेज कर दिया और हमारे बदन पर लगे साबुन को पानी से हटा दिया.  इसके बाद में पायल आंटी के बूब्स को दबाते और सहलाते हुये पायल आंटी के होठों को चूस रहा था और मेरे लंड को पायल आंटी की चूत अपने होठ से सहला रही थी. बैठकर नहाने के लिये रखे स्टूल पर पायल आंटी ने अपना एक पैर उठा कर रख लिया और मेरे लंड को चूत मे घुसने का मौका मिल गया. शीशे में दिख रहा था मेरा लंड अंदर बाहर होते हुये मेरी प्यारी चूत से खिलवाड़ कर रहा था. पायल आंटी की चूत उसे पूरा अपने अन्दर लेने की कोशिश कर रही थी. कुछ देर बाद पायल आंटी अपने आप को छुड़ा कर बाथ-टब को पकड़ कर झुक गयी. पायल आंटी के गोल गोल बड़े बड़े चूतर उठे हुये थे में उन्हे दबा दबा कर जीभ से चाटने लगा और दाँत से काटा भी पायल आंटी बोली क्या करता है अब रहा नही जा रहा है और मै पायल आंटी की चूत को देखने लगा. मैने उस पर अपने तनतनाते हुये लंड को लगा कर धक्का दिया. पूरा लंड झट से चूत में समा गया. फिर क्या था लंड और चूत का खेल शुरू हुआ. शीशे मे जैसे ब्लू फिल्म चल रही हो, जिसकी हीरोइन पायल आंटी थी और हीरो में.  मेरा लंड पायल आंटी की चूत में अंदर बाहर हो रहा था जिससे पायल आंटी की चूत पागल हो रही थी पर मुझे शीशे में लंड का घुसना और निकलना बहुत अच्छा लग रहा था. शावर से पानी की फुहार हम दोनो पर पड़ रही थी, हम लोग उसकी परवाह ना कर तन की आग मिटाने मे लगे थे. में पीछे से पायल आंटी की चूचियाँ पकड़ कर बराबर धक्के लगाये जा रहा था. शीशे में अपनी चुदाई देख कर पायल आंटी भी काफ़ी गर्म हो चुकी थी इसलिये पायल आंटी भी अपनी चूत को आगे पीछे कर गपगप लंड को चूत में ले रही थी और बोलती जा रही थी, “अरे यार….. ! बहुत अच्छा लग रहा है….इस चुदाई में चोदो मेरे सनम जिंदगी का पूरा मज़ा ले लो…. मेरे बलम…… तुम्हारा लंड बड़ा जानदार है…… मारो राजा धक्का….. और ज़ोर से….. राजा और ज़ोर से…. और ज़ोर से…… इस जालिम लंड से फाड दो मेरी चूत बहुत अच्छा लग रहा है….”पीछे से चुदाई में आंटी के हाथ झुके-झुके होने के कारण दुखने लगे फिर पायल आंटी बोली- “राजा ज़रा रूको, इस तरह पूरी चुदाई नही हो पा रही है, लेटा कर चोदने में पूरा लंड घुसता है तो झड़ने में बहुत मज़ा आता है”  फिर मैने शावर बंद किया. और पायल आंटी वही गीले में ज़मीन पर लेट गयी और बोली, “अब उपर आ कर चुदाई करो” अब में पायल आंटी के उपर था. और पायल आंटी की चूत मे लंड डालकर भरपूर चुदाई करने लगा. और पायल आंटी की चूत मे लंड पूरा का पूरा अंदर बाहर हो रहा था और पायल आंटी नीचे से उछल उछल कर साथ देते हुये कह रही थी, “अब चुदाई का मजा मिल रहा है मारो राजा मारो धक्का… और ज़ोर से हाँ! राजा इसी तरह से चोदो इस चूत को… अहह ईसस्स्स्स्स्स्स्सस्स ओह. में कस-कस कर धक्का मार मार कर पायल आंटी की चूत को चोद रहा था. थोड़ी देर बाद मेरा लंड पायल आंटी की चूत की गहराई में चला गया और हम दोनो साथ-साथ झड़ गये.

Write A Comment


Online porn video at mobile phone


bhabhi ne parti men lejake chudwaya xxx Hindi kahaniदादा ने सिल तोडीgraib randi family ki chudai khaniyama ne bathrum ke bahane chodwati maine dekhasex kamukta poti khaniyababi ki judai rat ko nude khaniमाँ की खुनी चुदाईhindi.b.f.kahaniHINDI SEX KHANIYANजपानी लरकी बुर फारा कहानीया HDनारियों के पीछे झुके हुये नितंबों के फोटोChhota Bheem xxx कहानिया हिनदी मेsex story vikas pdosanराज शर्मा की कुंवारी बहन की गान्ड ओर चुत चुदाई की कहानियांmohalle ki gaand pornjugad aunty dehradun xnxxhindi bolti cock chusaibahen ki chut phadi daru pike sex kahanyxxnx sex in घर आके चदवाईsexkahane henbebeeg bahi bahan seeil Band pados ke school ke kali chudai kahanix kamukta.compariwar me chudai ke bhukhe or nange log6 baccho ko sikhane ki aur sikhane wali Aurat ko chodte Hue chudai videoचुदालो मा बुरrupako choda hindimerape ki kahani.comxxx didi chudai storiyaभाभी की जंगल मे सामूहिक सेकसी कहानीsixe kahane hinde maa bata 2018 xxnx comkutte ne jamkar ladkiki chudai ki animal sex story.inSex storish hindi meena aur usaki dost ke chudhai karane wale seksi village kahaniIram bhaji ki phudi marixxxx sex story hindi ma lakaya kase fangari karte hasexykahaniahindiak dosre ko chumte hove sohagrat k vidioरिश्तों की चुदाईसटोरीadlt kahanimere husband ne suhagrat me khub chodaदेसी भाभी चुची पिलाकर खूब चुदाई कीभाभी को ghulaam banake chodaSAKAX KAHANEYAसिस्टर को छोड़ा नींद में और माँ भी चूड़ीhindi sex kahaniya ham panch behnekamkuta sex Indian maa beta 65साल कि औरत की चुतhindi chudai ki khaniyasaree mein bagal wali aunty ko choda unke bache ke samne xnx videosexe uip vedeo bolte kahane india ma beta vedeo.comXXXKHANIYA HINDI MEhttp:// hindi xxx sex bur cudaichudai jagal ki meri kahani adiwasi ne fad dala chutघरकी बात घरमे सेक्स कहानी xxx didi kahaniya photos hindichhote bhai ko muth marate pakadisadike. bad. bhi. cudai xxxKAPALA.GOJARATI.ME.SODAI.KAHANI.HINDI.ME.risto me chudai kamukta do do teacher ke sath afear suknyaprone मदमस्त मोटा Lund की gand chudi videoग्वालन की चुदाई का मजा कहानी virgin chto ke chdai videoSexy photoes ke sath sexy khaniyaचुदाई की कहानीsamuhik chudai ki kahaniya hindi me sax baba net peमेडम को मोठे लैंड से चुदाई स्टोरीnoker ne bra di hendi saxye khaneyakuwari bahan ki thandi me chudai jabri kahanibaiya ne meri grup chudai karwaiबुर।चोदाई।पाच।मि लकरसकसी विड़ियो साड़ी घाघरा वाले गाव मे नाहाते हुएबुर और लंड का फोटो देखना है ओनलाईन वीडयो लोडीगanterwasnasexstory .comससुरबहु फुल चोदाई कहानीमामी बहन सेक्स स्टोरी नवीन 2018रिश्ते की भोसडा चोदाhindi x kahani jawan widhwa bhahan began sabjimastaram.com sex stories desigoogle,marisaci.kahani.hindim